आंख आना , दमा, आंखों का दर्द दांतो को साफ और मजबूत बनाने के लिए । काली खासी , बालों के रोग , बलगम वाली खांसी और बुखार वाली खांसी के लिए ।

आंख आना –  आंख आने पर सुहागा और फिटकरी को एक साथ पानी में घोल बनाकर आंख को धोने और बीच-बीच में बूंद बूंद की तरह आंखों में डालने से बहुत जल्दी लाभ होता है ।

Eye disease story khajana.blogspot.com


दमा –  लगभग 75 ग्राम भुना हुआ सुहागा 100 ग्राम शहद में मिला लें इसे सोते समय एक चम्मच की मात्रा में लेकर चाटने से श्वास रोग में बहुत लाभ होता है
लगभग 300 ग्राम पिसे हुए सुहागे को 300 ग्राम शहद में मिलाकर रख दे कुछ दिनों तक अंगुली भर चाटते रहने से श्वास रोग खत्म हो जाते हैं

सुहागा और मुलेठी को अलग-अलग पकाकर या पीसकर कपड़े में छानकर बारीक चूर्ण बना लें और फिर इस दोनों औषधियों को बराबर मात्रा में मिलाकर किसी शीशी में सुरक्षित रख ले आधा ग्राम से 1 ग्राम तक इस चूर्ण को दिन में दो से तीन बार शहद के साथ चाटने से या गर्म पानी के साथ लेने से दमा के रोग में लाभ मिलता है बच्चों के लिए लगभग 1 ग्राम का चौथा भाग की मात्रा या आयु के अनुसार दे । 

इसका सेवन करने से स्वास्थ्य खांंसी तथा जुखाम नष्ट हो जाता है 

इस औषधियों का सेवन करते समय दही केला चावल तथा ठंडे पदार्थों का सेवन नहीं करना चाहिए

आंखों का दर्द- भुने हुए सुहागे को पीसकर कपड़े में छानकर सलाई से सुबह और शाम आंखों में लगाने से आराम आता है

Teeth smile face story khajana.blogspot.com


दांतो को साफ और मजबूत बनाने के लिए- 
सुहागा को फुला कर उसमें मिश्री मिलाकर बारीक पीस कर रोजाना मंजन करने से दांत साफ और मजबूत होते हैं लकड़ी के कोयले में सुहागा मिलाकर बारीक पाउडर बना लें तथा बांस या नीम के दातुन पर लगाकर मंजन करें इससे दांत साफ और मजबूत होते हैं ।


काली खांसी ( कुकुर खांसी) – सुहागा कलमी शोरा फिटकरी काला नमक और यवक्षार को पीसकर चूर्ण तैयार कर इसे तभी पर बुनकर 2 ग्राम की मात्रा में शहद के साथ मिलाकर बच्चों को चटाने से काली खांसी ठीक हो जाती है ।

तवे पर भुना हुआ सुहागा व वंशलोचन को मिलाकर शहद के साथ रोगी बच्चों को चटाने से काली खांसी दूर हो जाती है ।

बालों के रोग- 20 ग्राम सुहागा और 10 ग्राम कपूर को 50 मिलीलीटर उबले पानी में मिलाकर हल्के गर्म पानी के साथ धोने से बाल मुलायम तथा काले हो जाते है

5 ग्राम सुहागा और 10 ग्राम कच्चे सुहागे को 250 मिलीलीटर पानी में डालकर उबालें । इसके ठंडा होने पर बालों को धोने से बाल मजबूत बनते हैं ।

खांसी  के लिए : पांच-पांच ग्राम भुना हुआ सुहागा और कालीमिर्च को पीसकर कंवर गंदल के रस में मिलाकर काली मिर्च के बराबर की गोलियां बनाकर छाया में सुखा लें एक या आधी गोली को मां के दूध के साथ बच्चों को देने से खांसी के रोग में आराम आता है ।

बलगम वाली खांसी और बुखार वाली खांसी में लगभग 1 ग्राम का चौथा भाग से लगभग 1 ग्राम सुहागे की खील को सुबह शाम शहद के साथ देने से लाभ मिलता है ।

सुहागे को तवे पर गर्म करके फुलाए फिर उसका चूर्ण बनाकर पीसे इसमें से एक चुटकी चूर्ण लेकर शहद के साथ चाटने से खांसी बंद हो जाती है

You May Also Like

About the Author: admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *